‘Hamare Baarah’ Film Review: सोचने पर मजबूर करती है अन्नू कपूर की ‘हमारे बारह’


बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अन्नू कपूर एक बेहतरीन फिल्म लेकर आए हैं, जिसका नाम है ‘हमारे बारह’. यह फिल्म पिछले कुछ दिनों से अपने विषय के कारण विवादों में थी. मामला कोर्ट तक पहुंच गया था. फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की गई थी, लेकिन कोर्ट को इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं मिला जिसकी वजह से वह इस पर रोक लगा सके. आखिरकार कोर्ट ने इस फिल्म की रिलीज की इजाजत दे दी और आज यह फिल्म देशभर में रिलीज हो गई है.

फिल्म वाकई शानदार है, जिसमें महिलाओं से जुड़े कई मुद्दों को दिखाया गया है. फिल्म में अन्नू कपूर एक उम्रदराज कव्वाल के किरदार में हैं, जो रूढ़िवादी सोच रखता है और उसके कुल 11 बच्चे हैं और 12वें बच्चे की तैयारी है. फिल्म की कहानी एक ही परिवार की है. उसकी दूसरी पत्नी पहले ही 5 बच्चे को जन्म दे चुकी है, ऐसे में डॉक्टर ने सलाह दी है कि वह छठवां बच्चा न करें, अगर ऐसा करते हैं तो उनकी पत्नी को जान का खतरा हो सकता है, लेकिन रूढ़िवादी सोच रखने वाला कव्वाल इस बात के लिए बिलकुल भी तैयार नहीं है कि वो अपनी पत्नी का एबॉर्शन करवाए. उसका मानना है कि बच्चे ऊपर वाले की देन है.

‘हमारे बारह’ की कहानी लखनऊ के अमीनाबाद से शुरू होती है, जहां कव्वाल की बड़ी बेटी अल्फिया अपने पिता के फैसले से बिलकुल भी खुश नहीं है और वह अपनी सौतेली मां को बचाने के लिए लखनऊ उच्च न्यायालय में केस दायर करती है. अल्फिया कव्वाल की पहली पत्नी की बेटी है, जो उसके दूसरे पत्नी के लिए फाइट करती दिखती है. अल्फिया जब अपने पिता के खिलाफ केस करने के लिए कोर्ट पहुंचती है तो कोई भी उसका केस लड़ने को तैयार नहीं होता है, और अंत में उसकी मुलाकात एक महिला वकील से होती है जो पैसों के लिए नहीं, हक के लिए लड़ने के लिए जानी जाती है. क्या कव्वाल की दूसरी पत्नी अपनी छठवें बच्चे को जन्म देगी? क्या कव्वाल की बेटी कोर्ट में केस जीत पाएगी? इन सवालों के जवाब के लिए आपको सिनेमाघर जाकर पूरी फिल्म देखनी पड़ेगी.

अब अभिनय की बात की जाए तो अन्नू कपूर एक बार फिर अपने शानदार अभिनय से आपका दिल जीत लेंगे. वहीं, उनके अलावा मनोज जोशी, अश्विनी कालसेकर, परितोष त्रिपाठी, राहुल बग्गा, पार्थ समथान भी अपने-अपने किरदार के साथ इंसाफ करते नजर आए हैं. फिल्म में कोई भी किरदार आपको ऐसा फील नहीं होने देगा कि वह ओवरएक्टिंग कर रहा हो. वैसे फिल्म में कुछ खामियां भी है. फिल्म का पहला पार्ट तो आपको बांधे रखेगा, लेकिन सेकंड हाफ थोड़ा स्लो है, जिससे आप थोड़ा बोर जरूर हो सकते हैं. साथ ही एडिटिंग और सिनेमाटोग्राफी भी थोड़ी कमजोर दिखाई पड़ती है, लेकिन कम बजट में इतने अच्छे सब्जेक्ट के साथ निर्देशक कमल चंद्र ने अपनी कलाकारी अच्छी दिखाई है.

कुल मिलाकर कहा जाए तो आप इस फिल्म को एक बार जरूर देखना चाहेंगे. फिल्म की जो एक खास बात है, वो है अन्नू कपूर की आवाज. जी हां, इस फिल्म में अन्नू कपूर ने संगीत में भी अपना योगदान दिया है और क्या शानदार आवाज है उनकी. उनके आवाज कव्वाली सुन आप गदगद हो जाएंगे. रेटिंग की बात की जाए तो मेरी ओर से फिल्म ‘हमारे बारह’ को 3 स्टार.

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्क्रिनप्ल :
डायरेक्शन :
संगीत :

Tags: Entertainment, Film release, Film review

Leave a Comment

close
Thanks !

Thanks for sharing this, you are awesome !

Discover more from New Year Sms

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading