Sarfira Movie Review: ‘सरफिरा’ से अक्षय कुमार ने की धमाकेदार वापसी


2021 से अक्षय कुमार लगातार कई फिल्मों में नजर आ रहे हैं, लेकिन इस बीच फिल्म ‘ओएमजी 2’ को छोड़कर उनकी बाकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कोई जादू नहीं चला पाईं. अब जो अक्षय की फिल्म 12 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है, वो आपकी उम्मीदों से कहीं बेहतर होगी. जी हां, अक्षय ने फिल्म ‘सरफिरा’ से बड़े पर्दे पर धमाकेदार वापसी है. वह एक शानदार और कमाल की फिल्म लेकर दर्शकों के बीच आए हैं.

वैसे, इस बार जब मैं ‘सरफिरा’ देखने जा रहा था तो मेरे दिमाग में एक ही बात चल रही थी कि कहीं अक्षय मुझे फिर निराश तो नहीं करेंगे, लेकिन नहीं ऐसा बिलकुल भी नहीं हुआ. फिल्म ने शुरुआत से जो रफ्तार पकड़ी, वह क्लाइमैक्स तक जारी रही. यह फिल्म एक परफेक्ट एंटरटेनमेंट कॉम्बो है. फिल्म आपको अपनी सीट से हिलने नहीं देगी. फिल्म इमोशन से भरपूर है और अक्षय ने उन इमोशन के साथ इतना जबरदस्त अभिनय किया है कि यह देखने लायक है.

फिल्म की कहानी एक ऐसे व्यक्ति के बारे में है जो अपनी खुद की एयरलाइंस खोलना चाहते है जिसके जरिए वह आम लोगों को आधे दामों पर हवाई टिकट उपलब्ध करा सके और उसकी भूमिका में आपको अक्षय कुमार नजर आएंगे. इस फिल्म की कहानी कैप्टन गोपीनाथ की किताब ‘सिंपल फ्लाई: ए डेक्कन ओडिसी’ पर आधारित है. फिल्म में अक्षय के साथ आपको राधिका मदान मुख्य अभिनेत्री के तौर पर नजर आएंगी, जिन्होंने इस बार अपना सर्वश्रेष्ठ दिया है और यह उनके करियर की बेस्ट फिल्म होने वाली है.

फिल्म में वीर अपनी एयरफोर्स की नौकरी छोड़कर एक ऐसे मिशन पर निकलता है जिसमें जीत की संभावना शायद नामुमकिन है. वीर अपनी खुद की एयरलाइन खोलना चाहता है, लेकिन जिसके पास भी वो अपना प्रस्ताव लेकर जाता है, उसे वहां से निराशा ही मिलती है. कोई भी बिजनेसमैन उसकी मदद के लिए आगे नहीं आता. वीर हार नहीं मानता और इसमें उसकी पत्नी रानी (राधिका मदान) उसकी बहुत मदद करती है. रानी हर मुश्किल में उसकी साथी बनी रहती है. रानी की अपनी बेकरी की दुकान है.

वीर फिर कई एयरलाइंस के मालिकों से मिलने की कोशिश करता है, लेकिन कोई भी उसे समय देने से मना कर देता है. फिर एक बार उसकी मुलाकात परेश गोस्वामी (परेश रावल) से होती है, जो एक एयरलाइंस का मालिक होता है. परेश से मुलाकात के बाद वीर की जिंदगी कैसे बदलने लगती है? ये जानने के लिए आपको खुद सिनेमाघर जाकर पूरी फिल्म देखनी होगी, जहां आपको इस सवाल का जवाब भी मिल जाएगा कि वीर अपने मकसद में कामयाब होता है या नहीं.

एक्टिंग की बात की जाए तो अक्षय कुमार और राधिका मदान के अलावा परेश रावल और सीमा बिस्वास सहित तमाम सितारों ने अपने-अपने किरदारों के साथ इंसाफ किया है. सभी की एक्टिंग आपको परफेक्ट लगेगी. फिल्म का फर्स्ट हाफ आपको इतना उत्साहित कर देगा कि आप सेकंड हाफ का इंतजार करने लगेंगे और सेकंड हाफ आते-आते आप काफी इमोशनल भी हो जाएंगे. फिल्म खत्म हो जाएगी, लेकिन आपको ऐसा महसूस होगा कि कहानी चलती और आप सिर्फ देखते रहें.

सुधा कोंगरा ने क्या कमाल का निर्देशन किया है. उनके निर्देशन में बनी इस फिल्म को आप अपने पूरे परिवार के साथ देख सकते हैं. इमोशन के अलावा भी इस फिल्म में और भी बहुत कुछ है, जो आपका मनोबल बढ़ाएगा. कहते हैं सिनेमा संचार का सबसे बड़ा माध्यम है और अगर ‘सरफिरा’ जैसी फिल्में बनने लगेंगी तो लोगों तक बहुत अच्छा संदेश पहुंचेगा. फिल्म में जीवी प्रकाश कुमार, तनिष्क बागची और सुहित अभ्यंकर के संगीत भी काफी अच्छे हैं. मेरी तरफ से ‘सरफिरा’ को 4 स्टार.

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्क्रिनप्ल :
डायरेक्शन :
संगीत :

Tags: Akshay kumar, Film review, Radhika Madan

Leave a Comment

close
Thanks !

Thanks for sharing this, you are awesome !

Discover more from New Year Sms

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading